48 करोड़ से उत्तर भारत का पहला राजकीय होम्योपैथिक काॅलेज व अस्पताल का शिलान्यास

0
215

Hahnemann ki aawaz posted on 12 – 03 – 2019
अम्बाला छावनी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अम्बाला छावनी के मंगलई गांव में आयुष विभाग द्वारा 48 करोड़ रूपए से अधिक की लागत से लगभग 12 एकड़ में बनाए जाने वाले राजकीय होम्योपैथिक कालेज एवं अस्पताल का शिलान्यास किया। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि गांव मंगलई में राजकीय होम्योपैथिक कालेज व अस्पताल बनने से समूचे प्रदेश को फायदा होगा। यह उत्तर भारत का पहला राजकीय होम्योपैथिक कालेज व अस्पताल होगा जिसमें प्रतिवर्ष होम्योपैथिक के 100 डाक्टर तैयार होंगे। इसमें 25 बिस्तर का अस्पताल भी शामिल है। इस अस्पताल के बनने से जहां एक ओर रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे वहीं दूसरी ओर होम्योपैथिक इलाज की बेहतरीन स्वास्थ्य सेवाएं भी मिलेंगी।

चिकित्सकों को लैपटाॅप वितरित

गांव मंगलई में आयोजित कार्यक्रम में महानिदेशक डा. साकेत कुमार ने कहा कि यह कालेज और अस्पताल बनने से स्थानीय ग्राम पंचायत का बेहतरीन सहयोग रहा है। कालेज के बनने से नए छात्र होम्योपैथिक पद्धति से शिक्षा ग्रहण करेंगे। लोगों में होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धति की ओर रूझान बढ़ेगा, बेहतरीन सुविधाएं भी मिलेगी। यह एक ऐसी पद्धति है जिससे बीमारी का समूल नाश किया जा सकता है। चिकित्सकों को करीब 1 करोड़ की लागत के विशेष साॅफ्टवेयर व लैपटाप भी वितरित किए गए हैं। मौके पर होम्योपैथिक काउंसिल के चेयरमैन डा. हरप्रकाश, निदेशक डा. सतपाल बाहमनी, एस.डी.एम. विवेक चैधरी, डा. राजेश, मंगलई की सरपंच किरण बाला सहित आयुष पद्धति से जुड़े काफी संख्या में डाक्टर मौजूद रहे।

SHARE